दो दिन से गायब नाबालिग बहनों को टेलर मास्टर ने बना रखा था बंधक, बाहर भेजने की थी तैयारी - TODAY NEWS BIHAR
Connect with us

BIHAR

दो दिन से गायब नाबालिग बहनों को टेलर मास्टर ने बना रखा था बंधक, बाहर भेजने की थी तैयारी

Rohini Singh

Published

on

पटना पुलिस ने मामले की जानकारी मिलने के बाद रात के 11 बजे दोनों बच्चियों को बरामद कर लिया है. टेलर के पास से बरामद बच्चियों का कहना है कि दुकानदार उन्हें कहीं बाहर भेजने वाला था.

कंकड़बाग थाना के चांदमारी राेड नंबर 8 में टेलर की दुकान चलाने वाले जाफर ने कंकड़बाग की दाे नाबालिग लड़कियाें काे दुकान में ही बंधक बना लिया था. दाेनाें का हाथ-पैर बांध दिया और विराेध करने पर एक के साथ पिटाई भी की. यही नहीं बेरहम जाफर ने दाे दिनाें तक दाेनाें के साथ जुल्म ढाया. दाेनाें काे बार-बार ठंडे पानी से नहला रहा था. पीड़िता ने बताया कि दाेनाें के साथ काेई गंदा काम नहीं हुआ है, बल्कि वो बार-बार ये कह रहा था कि दाेनाें काे बाहर भेज देंगे.

कंकड़बाग की रहने वाली दाेनाें सहेली दाे दिनाें से घर से लापता थीं. उनके परिजन दाेनाें काे तलाश रहे थे. इसी बीच मंगलवार की रात किसी ने उन्हें बताया कि चांदमारी राेड नंबर आठ के पास दाेनाें काे साेमवार काे देखा गया है, उसके बाद परिजन व स्थानीय लाेगाें ने जब जाफर की दुकान का शटर खाेला ताे दाेनाें वहीं मिलीं.

दाेनाें के हाथ-पांव बंधे थे, जाफर भी वहीं था. लाेगाें ने उसे पकड़ लिया और जमकर धुनाई कर दी. ठंड की वजह से एक पीड़िता की हालत खराब है और उसे बार-बार उल्टी हाे रही है, हालांकि स्थानीय लाेगाें ने आग जलाकर उसे ठीक करने की काेशिश की. बाद में माैके पर पहुंची पुलिस उसे पीएमसीएच ले गई. पुलिस जाफर से पूछताछ करने में जुटी है. जाफर चांदमारी राेड का रहने वाला है.


जरूरी काम की बात कहकर बुलाया और शटर बंद कर दिया


नाबालिग लड़की ने बताया कि दाेनाें सामान खरीदने के लिए चांदमारी राेड आई थीं, इसी बीच टेलर ने आवाज देकर बुलाया और कहा कि जरूरी काम है. दाेनाें उसके पास गईं तो उसके बाद उसने शटर बंद कर दिया. बीच-बीच में टेलर बाहर निकलता पर शटर काे बाहर से बंद कर देता था. हम दाेनाें का हाथ-पांव बंधा था.
पीड़िता की बात में अगर दम है ताे सबसे बड़ा सवाल यह है कि क्या जाफर मानव तस्करी करता है. कहीं ऐसा ताे नहीं कि वह नाबालिग लड़कियाें काे बाहर भेजता है. पुलिस उससे पूछताछ करने में जुटी है. उसके माेबाइल काे भी पुलिस खंगालने में जुटी है.

रेप नहीं हुआ है, बंधक बनाए हुए था

कंकड़बाग थाना के प्रभारी थानेदार सुमन कुमार ने कहा कि दाेनाें में से किसी के साथ रेप नहीं हुआ है. दाेनाें काे हाथ-पांव बांधकर बंधक बनाए हुए था और ठंडे पानी से नहलाने से एक की तबीयत खराब है, उसे पीएमसीएच भेजा गया है. पुलिस जाफर से पूछताछ करने में जुटी है.

Don't Miss

स्कूटी से धनबाद भाग रहा था प्रेमी जोड़ा, आधी रात बीच सड़क पर हुआ कुछ ऐसा!

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

BIHAR

स्कूटी से धनबाद भाग रहा था प्रेमी जोड़ा, आधी रात बीच सड़क पर हुआ कुछ ऐसा!

Rohini Singh

Published

on

दोनों लड़का-लड़की सामान लेकर जा रहे थे। दोनों ने अपने को भाई-बहन बताया। पुलिस ने दोनों का आधार कार्ड मांगा तो वे भागने लगे। बाद में पुलिस ने सख्ती बरतते हुए पूछताछ की तो युवक ने खुद को धनबाद का निवासी बताया।

गिद्दी (रामगढ़), जासं। मन में नए ख्‍वाब बुनते हुए, नए सपने देखते हुए एक प्रेमी जोड़ा अपनी नई दुनिया बसाने चला था। लड़का के साथ लड़की भी अपने जीवन की नई पारी के लिए तैयार थी, लेकिन फिल्‍मी स्‍टाइल में पुलिस विलेन बन गई और एक प्‍यार की दुनिया बसते-बसते रह गई। रामगढ़ जिले के गिद्दी थाना पुलिस ने रविवार रात गश्ती के दौरान करीब साढ़े 12 बजे देखा कि स्कूटी से एक लड़का और एक लड़की साथ जा रहे हैं।

पुलिस ने बताया कि रात्रि गश्ती के दौरान एक स्कूटी में लड़का-लड़की को सामान के साथ जाते देख कर शक हुआ। इसके बाद उनसे पूछताछ की गई। दोनों ने अपने को भाई-बहन बताया। पुलिस ने दोनों का आधार कार्ड मांगा तो वे भागने लगे। बाद में पुलिस ने सख्ती बरतते हुए पूछताछ की तो युवक ने खुद को धनबाद का निवासी बताया। बताया कि वे धनबाद भाग रहे थे।

इसके बाद पुलिस ने प्रेमी युगल को पकड़ कर प्रेमिका को स्वजन के हवाले कर दिया, जबकि प्रेमी को चेतावनी देकर छोड़ दिया। युवक ने बताया कि उसकी प्रेमिका गिद्दी की रहने वाली है। दोनों एक-दूसरे से प्‍यार करते हैं। घर वालों के स्‍वीकार नहीं करने पर उन्‍होंने एक साथ भागने का प्‍लान बनाया। युवक अपनी प्रेमिका को भगा कर स्कूटी से ले जा रहा था। पुलिस ने युवती को गिद्दी स्थित उसके घर ले जाकर स्वजन के हवाले कर दिया है।

Continue Reading

BIHAR

1985 से अबतक मिल चुकी 400 तारीखें… आखिर कब मिलेगा न्याय?

Rohini Singh

Published

on

Supreme Court News:- सुप्रीम कोर्ट में अर्जी दाखिल कर गुहार लगाई गई है कि लॉ कमिशन की सिफारिश को लागू किया जाए और केसों की पेंडेंसी कम करने के लिए कदम उठाए जाएं।

हाइलाइट्स:-
करोड़ों की पेंडेंसी खत्म करने की गुहार, जजों की संख्या डबल करने की अर्जी।
लॉ कमिशन की रिपोर्ट पर अमल के लिए केंद्र और राज्यों को निर्देश जारी हो।
केसों की पेंडेंसी 3 साल में खत्म किया जाए, त्वरित मौलिक अधिकार।

सुप्रीम कोर्ट
एक शख्स को गिफ्ट डीड दिया गया, लेकिन इसी संपत्ति को विल डीड के आधार पर किसी और ने बेच दिया। यह मामला चकबंदी अधिकारी के पास पेंडिंग है। जौनपुर के इस मामले में जिन्हें गिफ्ट डीड के जरिए प्रॉपर्टी दिया गया था उस शख्स को 1985 से 400 तारीखें मिल चुकी है। इसी तरह से पंचकूला में 2003 से दहेज प्रताड़ना का एक केस पेंडिंग है और जिनके खिलाफ आरोप है वह 1971 का जंग लड़ चुके हैं और अब 76 साल के हो चुके हैं।

सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की गई याचिका
इन मामलों का जिक्र करते हुए सुप्रीम कोर्ट में अर्जी दाखिल कर गुहार लगाई गई है कि लॉ कमिशन की सिफारिश को लागू किया जाए और केसों की पेंडेंसी कम करने के लिए कदम उठाए जाएं। निचली अदालत और हाई कोर्ट में जजों की संख्या डबल करने के लिए निर्देश जारी किया जाए। सुप्रीम कोर्ट में एडवोकेट और बीजेपी नेता अश्विनी उपाध्याय की ओर से अर्जी दाखिल कर भारत सरकार के अलावा देश भर के तमाम राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को प्रतिवादी बनाया गया है और सुप्रीम कोर्ट में दाखिल रिट में गुहार लगाई गई है कि देश भर में पेंडिंग केसों का निपटारा तीन साल में किया जाए और जजों की संख्या डबल की जाए। अर्जी में कहा गया है कि तहसीलदार से लेकर शीर्ष अदालत तक में पांच करोड़ केस पेंडिंग है जिनके निपटान के लिए निर्देश जारी किया जाए।

हाई कोर्ट के जजों की संख्या डबल की जाए
इस अर्जी में कहा गया है कि जूडिशल चार्टर के तहत 2009 में प्रस्ताव किया गया था कि तीन साल में केसों का निपटारा होगा। इस पर अमल के लिए केंद्र और राज्यों को निर्देश जारी करने की गुहार लगाई गई है। साथ ही कहा गया है कि सुप्रीम कोर्ट संविधान का कस्टोडियन है और वह लॉ कमिशन की 245 वीं रिपोर्ट पर अमल कराए जिसके तहत कहा गया था कि पेंडिंग केसों का निपटारा तीन साल के भीतर होना चाहिए और इस तरह से पुराने पेंडिंग केसों का तीन साल में निपटारा किया जाए। याचिका में कहा गया है कि निचली अदालत और हाई कोर्ट के जजों की संख्या डबल किया जाने के लिए केंद्र और राज्यों को निर्देश जारी किया जाए।



तहसील से लेकर सुप्रीम कोर्ट तक 5 करोड़ केस पेंडिंग
अर्जी में कहा गया है त्वरित न्याय का अधिकार संवैधानिक अधिकार है और अनुच्छेद-21 के तहत जो जीवन का अधिकार मिला हुआ है, उसी के तहत जल्द न्याय का अधिकार मिला हुआ है। लेकिन देखा जाए तो तहसील से लेकर सुप्रीम कोर्ट तक 5 करोड़ केस पेंडिंग हैं। इस तरह औसतन छह लोग अगर परिवार में हैं तो 30 करोड़ लोग किसी न किसी तरह से इन केसों के कारण आर्थिक, शारीरिक और मानसिक बोझ झेल रहे हैं। तहसीलदार, एसडीएम व एडीएम आदि के कोर्ट में 10 लाख केस इस बात को लेकर पेंडिंग है कि क्वेश्चन ऑफ लॉ क्या है?



हाई कोर्ट में 50 लाख केस पेंडिंग
देश भर के हाई कोर्ट में 50 लाख केस पेंडिग है। 10 लाख केस 10 साल से ज्यादा समय से पेंडिग है। दो लाख केस 20 साल से ज्यादा समय से पेंडिंग है और वहीं 45 हजार केस तीन दशक से पेंडिंग है। ये पेंडेंसी दिन ब दिन बढ़ रहा है। समाज के हित में यही है कि पेंडिंग केसों का तीन साल के भीतर निपटारा हो जाए। स्पीडी जस्टिस दोनों पक्ष के लिए जरूरी है। ये मौलिक अधिकार है। जो आरोपी दोषी हैं उन्हें जल्दी सजा मिले और जो निर्दोष हैं उन्हें जल्दी बरी किया जाए ताकि उनकी गरिमा वापस हो

Continue Reading

BIHAR

Cashback Offer : 700 रुपये का LPG Cylinder मिलेगा सिर्फ 200 में, जानिए ऑफर और कैसे उठाएं फायदा!

Rohini Singh

Published

on

अब आप पेटीएम (Paytm) से अपना एलपीजी सिलिंडर (LPG cylinder) बुक कर 500 रुपये तक का कैशबैक प्राप्त कर सकते हैं. देश के अधिकांश भागों में जहां एलपीजी सिलिंडर सब्सिडी के बाद 700 से 750 रुपये के बीच है, ऐसे में पेटीएम के खास कैशबैक का फायदा उठाकर आप 200 से 250 रुपये के खर्च पर HP, Indane, Bharat Gas एलपीजी सिलिंडर अपने घर पर पा सकते हैं.




पेटीएम ने अपने ऐप से एलपीजी सिलिंडर बुक करने पर 500 रुपये तक के कैशबैक की पेशकश की है. पांच सौ रुपये तक का यह कैशबैक पेटीएम ऐप के माध्यम से पहली बार एलपीजी गैस सिलेंडर बुक करवाने वाले ग्राहक ही पा सकते हैं. इसके लिए ग्राहकों को एक कोड दर्ज करना होता है. आइए इस ऑफर के बारे में थोड़ा डीटेल से जानें-


Paytm LPG Cashback Offer 31 दिसंबर 2020 तक वैलिड

Paytm LPG Cylinder Booking Cashback Offer का लाभ पाने के लिए ग्राहकों को प्रोमो सेक्शन में प्रोमो कोड FIRSTLPG दर्ज करना होता है. ग्राहक इस पेटीएम ऑफर का उपयोग ऑफर अवधि के दौरान सिर्फ एक बार ही कर सकते हैं. यह ऑफर 31 दिसंबर, 2020 तक ही वैलिड है. ऐसे में आपके पास सस्ता गैस सिलिंडर पाने के लिए कुछ ही दिन बचे हैं.



Paytm LPG Offer का ऐसे उठाएं फायदा

कैशबैक का फायदा उठाने के लिए सबसे पहले Recharge & Pay Bills के ऑप्शन पर जाना होगा. अब यहां Book a cylinder पर टैप करें. यहां आपको अपने गैस सिलिंडर का ब्योरा देना होगा. अब पेमेंट करने से पहले ऑफर पर FIRSTLPG प्रोमो कोड डालना है. एलपीजी डिलीवरी के लिए पेटीएम ने भारत पेट्रोलियम, इंडियन ऑयल और हिंदुस्तान पेट्रोलियम के साथ करार किया है. लोगों के बीच ऑनलाइ पेमेंट प्रमोशन के लिए कंपनी नया कैशबैक ऑफर लेकर आयी है

Continue Reading
Advertisement
INDIA5 months ago

देश की राजधानी दिल्ली में हुआ 14 साल की बच्ची का रेप!

PATNA5 months ago

पटना की सेक्स रैकेट की खुलासा पैसे वालो के लिए होती थी खाश इंतजाम

Business4 months ago

कोई नहीं पढ़ पाएगा आपकी WhatsApp चैट, इस सेटिंग से बनाएं व्हाट्सऐप डेटा को सुरक्षित!

Trending

  • INDIA5 months ago

    देश की राजधानी दिल्ली में हुआ 14 साल की बच्ची का रेप!

  • PATNA5 months ago

    पटना की सेक्स रैकेट की खुलासा पैसे वालो के लिए होती थी खाश इंतजाम

  • Business4 months ago

    कोई नहीं पढ़ पाएगा आपकी WhatsApp चैट, इस सेटिंग से बनाएं व्हाट्सऐप डेटा को सुरक्षित!

  • BIHAR6 months ago

    बिहार में हो रहे शिक्षक नियोजन में बार बार आ रही है रुकावटे देखिये आगे क्या हुआ

  • INDIA5 months ago

    पत्नी के थे  14 पुरुषों के साथ अवैध संबंध,पति ने किया 100 करोड़ के मानहानि का दावा!

  • INDIA6 months ago

    सुनीता यादव ने दे दिया अपने पद से स्तीफा! जाने क्या है पूरा मामला

  • BIHAR5 months ago

    तिरहुत नहर के तटबंध के टूट जाने से आस पास के गांव में तेजी से फैल रहा पानी!

  • INDIA5 months ago

    Breaking news- झारखण्ड सरकार का बरा फैसला